back to top
Saturday, July 13, 2024
HomeLyricsYa Devi Sarva Bhuteshu Lyrics | या देवी सर्वभूतेषु Mantra

Ya Devi Sarva Bhuteshu Lyrics | या देवी सर्वभूतेषु Mantra

Ya Devi Sarva Bhuteshu Lyrics | या देवी सर्वभूतेषु Mantra

Ya Devi Sarva Bhuteshu Lyrics की दुनिया में आपका स्वागत है! यह एक ऐसा मंत्र है जो मां दुर्गा की महिमा का बखान करता है और उनकी अनंत शक्तियों को दर्शाता है। Ya Devi Sarva Bhuteshu Lyrics में छिपा है एक ऐसा संदेश जो हर मनुष्य के जीवन को प्रभावित कर सकता है।

क्या आपने कभी सोचा है कि एक मंत्र इतना शक्तिशाली कैसे हो सकता है? दरअसल, यह मंत्र मां दुर्गा के विभिन्न रूपों का वर्णन करता है, जो हर प्राणी में विद्यमान हैं। यही कारण है कि Ya Devi Sarva Bhuteshu Lyrics की महत्ता सदियों से अक्षुण्ण है।

इस मंत्र की खूबसूरती यह है कि यह केवल एक धार्मिक रचना नहीं है, बल्कि जीवन की गहराइयों को समझने का एक माध्यम भी है। यह हमें सिखाता है कि शक्ति केवल बाहरी रूप में ही नहीं, बल्कि हमारे भीतर भी निहित है।

आइए, इस यात्रा पर चलते हैं और जानते हैं कि Ya Devi Sarva Bhuteshu Lyrics क्यों है इतना महत्वपूर्ण और कैसे यह हमारे जीवन को एक नई दिशा दे सकता है। यह मंत्र न केवल हमारी आध्यात्मिक चेतना को जगाता है, बल्कि हमें अपने भीतर छिपी देवी शक्ति को पहचानने में भी मदद करता है।

या देवी सर्वभूतेषु देवी सूक्तम दुर्गा मंत्र लिरिक्स

सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके।
शरण्ये त्र्यंबके गौरी नारायणि नमोस्तुते॥
या देवी सर्वभूतेषु विष्णुमायेति शब्दिता |
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु चेतनेत्य भिधीयते।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु बुद्धि-रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु निद्रा-रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु क्षुधा-रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु छाया-रुपेण संस्थिता |
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु शक्ति-रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु तृष्णा-रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषू क्षान्ति रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषू जाति रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषू लज्जा-रुपेण संस्थिता |
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु शांति-रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु श्रद्धा-रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषू कान्ति रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु लक्ष्मी-रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु व्रती-रुपेणना संस्थिता |
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु स्मृती-रुपेण संस्थिता |
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु दया-रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु तुष्टि-रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु मातृ-रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
या देवी सर्वभूतेषु भ्राँति-रूपेण संस्थिता |
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥
इन्द्रियाणा मधिष्ठात्री भूतानां चाखिलेषु या |
भूतेषु सततं तस्यै व्याप्तिदेव्यै नमो नमः ||
चितिरुपेण या कृत्स्नम एतत व्याप्य स्थितः जगत
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥

Ya Devi Sarva Bhuteshu Mantra Video

Also read: In Hindi: Duniya Chale Na Shri Ram Ke Bina Lyrics

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments