back to top
Saturday, July 13, 2024
HomeLyricsThali Bhar Ke Layi Re Khichdo Lyrics / थाली भर कर ल्याई...

Thali Bhar Ke Layi Re Khichdo Lyrics / थाली भर कर ल्याई रै खीचड़ौ भजन लिरिक्स

Thali Bhar Ke Layi Re Khichdo Lyrics

हिंदू धर्म में खिचड़ी का विशेष महत्व है। यह सादगी और पौष्टिकता का प्रतीक है। “Thali Bhar Ke Layi Re Khichdo Lyrics” एक ऐसा भजन है जो इस पवित्र भोजन की महिमा का गुणगान करता है। इस भजन में खिचड़ी को मां अन्नपूर्णा का प्रसाद माना गया है। यह गीत हमें याद दिलाता है कि भगवान की कृपा से हमारी थाली हमेशा भरी रहती है। आइए इस भजन के अर्थ और महत्व को समझें और अपने जीवन में सादगी और कृतज्ञता को अपनाएं।

Thali Bhar Ke Layi Re Khichdo Lyrics / थाली भर कर ल्याई रै खीचड़ौ भजन लिरिक्स

थाली भरकर ल्याई रै खीचड़ौ भजन लिरिक्स

थाली भरकर ल्याई रै खीचड़ौ, ऊपर घी की बाटकी, जीमो म्हारो श्याम धणी, जिमावै बेटी जाट की।
बाबो म्हारो गांव गयो है, ना जाने कद आवैलो, ऊके भरोसे बैठयो सँवारा, भूखो ही रह जावैलो।
आज जिमाऊं तैने रे खीचड़ो, काल राबड़ी छाछ की, जीमो म्हारो श्याम धणी, जिमावै बेटी जाट की
थाली भरकर ल्याई रै खीचड़ौ, ऊपर घी की बाटकी ….
बार-बार मंदिर न जुड़ती, बार-बार में खोलती, कईया कोनी जीमे रे मोहन, करडी-करडी बोलती।
तू जीमे जद मैं भी जिमूं, मानू ना लाट की, जीमो म्हारो श्याम धणी, जिमावै बेटी जाटी की
थाली भरकर ल्याई रै खीचड़ौ, ऊपर घी की बाटकी ….
परदो भूल गयी सांवरियो, परदो फेर लगायो जी, सा परदो की ओट बैठ के, श्याम खीचड़ौ खायो जी,
भोला-भाला भगता सूं, सांवरिया कइंया आंट की जीमो म्हारो श्याम धणी, जिमावै बेटी जाट की
थाली भरकर ल्याई रै खीचड़ौ, ऊपर घी की बाटकी ….
भक्ति हो तो करमा जैसी सावरियो घर आवेलो, भक्ति भाव से पूर्ण होकर हर्ष- गुण गावेलो।
सांचो प्रेम प्रभु से हो तो मूरत बोले काठ की, जीमो म्हारो श्याम धणी, जिमावै बेटी जाट की, र करमा बेटी जात की
थाली भरकर ल्याई रै खीचड़ौ, ऊपर घी की बाटकी…..
जीमो म्हारो श्याम धणी, जिमावै बेटी जाट की, र करमा बेटी जात की

Thali Bhar Ke Layi Re Khichdo Video

अंत में, “Thali Bhar Ke Layi Re Khichdo Lyrics” हमें सिखाता है कि सच्ची भक्ति में कोई भेदभाव नहीं होता। भगवान के लिए खिचड़ी और खीर एक समान हैं। यह भजन हमें याद दिलाता है कि हमें अपने जीवन में सादगी और कृतज्ञता को अपनाना चाहिए। आइए हम इस भजन के संदेश को अपने दैनिक जीवन में उतारें और भगवान की कृपा का आनंद लें।

Khatu Shyam ji

Also read: Sunderkand Lyrics / सुंदरकांड पाठ हिंदी में Lyrics

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments